शेखावाटी (चूरू): हिस्ट्रीशीटर महेन्द्र गोदारा की गोलीमार हत्या

906

प्रदेश में इन दिनों चल रहा आनंदपाल एनकाउंटर मामला अभी शांत भी नहीं हुआ कि एक और चुरु में एक और मर्डर हो गया चुरु स्थित कोतवाली थाने के हिस्ट्रीशीटर महेन्द्र गोदारा की सोमवार देर रात कड़वासर गांव में अज्ञात बदमाशों ने गोली मारकर हत्या कर दी। गोलियों की आवाज सुन क्षेत्र में सनसनी मच गई। गोलीबारी की सूचना मिलने पर घटना स्थल पर पहुंच कर पुलिस ने शव अपने कब्जे में लेकर राजकीय डेडराज भरतीया अस्पताल के मुर्दाघर में रखवा दिया। मामले को तूल पकड़ता देख पुलिस ने सुरक्षा कड़ी करवा दी तथा सड़क पर बैरीकेडिंग करवा दी और भारी पुलिस बल का जाप्ता तैनात कर दिया गया । अस्पताल में महेन्द्र के परिजनों सहित समाज के सैंकड़ों लोग एकत्र हो गए। पुलिस के मुताबिक गोदारा कड़वासर स्थित खुद की होटल से बाइक पर सवार होकर कड़वासर की तरफ जा रहा था। जैसे ही वह कड़वासर बस स्टैंड पहुंचा गाडिय़ों में सवार होकर आए बदमाशों ने गोदारा पर अंधाधूंध गोलियां चला दी। गोदारा को लगभग पांच गोलियां लगी जिससे उसने मौके पर ही दम तोड़ दिया। सूचना मिलने पर सदर पुलिस, कोतवाली पुलिस मौके पर पहुंच गई। डीएसपी हूकमसिंह ने हाथों-हाथ घटना स्थल पर पहुंचकर घटना की जानकारी ली। एएसपी केसरसिंह शेखावत भी अस्पताल पहुंचे और स्थिति का जायजा लिया। उन्होंने बताया कि महेन्द्र गोदारा कोतवाली थाने का बड़ा हिस्ट्रीशीटर था।

कौन था गोदारा
सहजूरसर निवासी महेन्द्र गोदारा (28) पुत्र गोपाल गोदारा कई सालों से आपाराधिक गतिविधियों में लिप्त था और धीरे-धीरे अपने पैस जमा रहा था। शुरुआत में उसने लूट, मारपीट तथा आम्र्स एक्ट सहित अनेक अपराध किए जिसमें उसके खिलाफ करीब 34 मामले दर्ज हैं। वह इन मामलों में कई बार जेल भी जा चुका है लेकिन बार-बार जमानत पर रिहा होकर बाहर आ जाता था। जिससे उसका हौंसला बढ़ता जा रहा था और कानून के प्रति उसका डर कम होता जा रहा था। अपराध की दुनियां में उसने अपने कई दुश्मन भी बना लिए थे जिससे उसे आए दिन उसे जान का खतरा भी बना रहता था। कुछ समय पहले वह हथियारों के साथ भी पकड़ा गया था पुलिस ने उसे पकड़कर जब पूछताछ की तो सामने आया की वह फतेहपुर के हिस्ट्रीशीटर अजय रिणवा को अपने रास्ते से हटाना चाहता था मगर उसे इससे पहले ही गिरफ्तार कर लिया गया।
आरोपियों को गिरफ्तार करने मांग कर रहे हैं परिजन
गोदारा के परिवारजनों ने कुछ नामजद लोगों की की रिपोर्ट थाने में दी है तथा उनकी जल्द से जल्द गिरफ्तारी की मांग की है उन्होंने कहा है कि जब तक पुलिस आरोपियों को गिरफ्तार नहीं करेगी तब तक ना पोस्टमार्टम करवाएंगे और ना ही शव को लेकर जाएंगे। पुलिस ने अपनी तफ्तीश तेज कर दी है और आरोपितों के घर और ठिकानों पर छापेमारी के लिए कई टाम बना कर रवाना कर दी गई है मगर अभी तक किसी के भी गिरफ्तार होने की सूचना नहीं आई है।

Facebook Comments